निरोगी रहने और बेहतर स्वास्थ्य

निरोगी रहने और बेहतर स्वास्थ्य के लिये, रामचरित मानस से ली गई…इस तरहां की आहार शैली को अपनायें, और स्वस्थ रहें 👇🏻 🌹🌹🌹 रोज 16 घंटे का निर्जला उपवास ( शाम 8 से 9 बजे के बाद कुछ भी नही खाना पीना ! ) 🟢 11:00 से 12:00 बजे के बीच सुबह ( “रसाहार” ) हरि पत्तियों का “ग्रीन जूस” लें, या पेठे का जूस, या लौकी, खीरे का जूस, या नारियल पानी लें, 🟡 1:30 बजे दोपहर – ( “फलाहार” ) – फल, सलाद, अंकुरित, कच्ची सब्जियां, नारियल या मुमफली की चटनी के साथ लें । 🟠 4:30 से 5:30 बजे ( “अल्पाहार” ) सूप या अल्प मात्रा में वेजिटेबल खिचड़ी, दलिया इत्यादि या कभी अपनी पसंद का कोई नास्ता ! 🟤 8:00 से 9:00 बजे रात में “पूर्ण सात्विक भोजन” ! (नोट- *चाय, कॉफी, दुध समुद्री नमक,मैदा,तेल बिल्कुल भी नही लेना है ! ) 🌹🌹🌹 इस भोजन व्यवस्था को यदि आप अपनाते हैं तो – *एलर्जी* , कोलेस्ट्रॉल , ब्लॉकेज , डायबिटीज , थायरोइड , बी.पी., स्टोन एवं अन्य अनेकों बीमारियों की कभी नौबत ही नही आयेगी ! आपका शरीर स्वस्थ रहेगा ! 🌹🌹🌹🌹 Dr Pawan Kumar Gupta Alternative Medicine Ph.D. National Vice Coordinator International Human Rights Ambassador Organization, London. U.K. Yoga Therapist, Naturopath, Diabetes Educator, International Yoga Trainer, NDDY. Pavitram Nature Care. Dehradun-248001 Uttarakhand India